Book a Free Counselling Session for Admission 2022 Book Now

करियर इन फार्मेसी: कैसे बनाएं करियर, कोर्सेस , योग्यता, जॉब, सैलरी समेत तमाम जरूरी बातें

आज के समय में चिकित्सा एक ऐसा क्षेत्र बन चुका है जहां पर आपको रोजगार के बहुत विकल्प मौजूद मिलेंगे। ऐसे में मेडिकल के क्षेत्र में फार्मेसी की अहम भूमिका रहती है। आमतौर पर फार्मेसी के अंतर्गत दवाओं की मैन्युफैक्चरिंग स्टोरेज और डॉक्टर द्वारा लिखे गए दवाओं का वितरण आदि शामिल है। अगर करियर के लिहाज से देखें तो फार्मेसी की मांग निरंतर होती रही है। हम इस लेख के माध्यम से आपको बताने वाले हैं कि फार्मेसी क्या है? और फार्मेसी करने के लिए किन कोर्सों को करना पड़ता है? क्या योग्यता होनी चाहिए? और क्या करियर स्कोप हो सकता है? फार्मेसी से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए अंत तक हमारे लेख जरूर पढ़ें।

फार्मेसी क्या है?

फार्मेसी को आमतौर पर दुकान के ही रूप में माना जाता है। जिसे मेडिकल या केमिस्ट स्टोर भी कहा जाता है फार्मेसी को प्रोफेशनल और एकेडमिक शब्दों में विज्ञान के ब्रांच के रूप में देखा जाता है। जिसमें दवाइयों की जानकारी जैसे दवाइयां कैसे बनती हैं, दवाइयों का डोज क्या होना चाहिए इत्यादि को समझा जाता है। साधारण शब्दों में कहें तो फार्मेसी में हेल्थ साइंस और केमिस्ट्री का संबंध होता है। आप इसे मेडिसिन बायलॉजी और केमिस्ट्री का मिक्सचर भी कह सकते हैं। क्लीनिकल और हेल्थ कम्युनिटी पर फार्मेसी का मुख्य उद्देश फोकस करना है।

फार्मेसी में कौन-कौन से कोर्स होते हैं?

फार्मेसी के अंदर मुख्यतः तीन प्रकार के कोर्स होते हैं जो निम्नलिखित हैं।

1. डी फार्मा

यह एक अंडरग्रैजुएट कोर्स है। यह 2 वर्षों का डिप्लोमा वाला कोर्स है, और 3 महीनों के लिए इसमें इंटर्नशिप कराई जाती है। इसे हम डिप्लोमा इन फार्मेसी भी कहते हैं। अगर आपकी इच्छा फार्मेसी के क्षेत्र में ही जाने की है। यदि किसी कारणवश आपके पास पैसे और समय की कमी है। तो ऐसे में डी फार्मा आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। भारत में फार्मासिस्ट बनने के लिए यह एक प्रकार का न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता वाला कोर्स माना जाता है। वैसे तो बी फार्मा की वैल्यू ज्यादा है। यदि आपने डी फार्मा पहले कर लिया तो आप बी फार्मा इसके बाद भी कर सकते हैं, जिसे लेटरल एंट्री कहते हैं। इसमें आपको बी फार्मा के दूसरे वर्ष में दाखिला मिल जाता है।

Subscribe Us to get Latest Updates from India's Top Universities.

शैक्षणिक योग्यत अनुमानित फीस
अभ्यार्थी ने अगर साइंस से 12वीं में 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण किया है। तब इस स्थिति में अभ्यार्थी इस कोर्स के लिए योग्य माना जाएगा।अभ्यार्थियों को यह कोर्स करने के लिए निजी कॉलेजों में ₹1,50,000 और सरकारी कॉलेजों में ₹50,000 अनुमानित फीस हो सकती है।

2. बी फार्मा

बी फार्मा 4 सालों का अंडर ग्रैजुएट कोर्स होता है। जिसे हम बैचलर ऑफ फार्मेसी कहते हैं। इस कोर्स में 12वीं के बाद 2 तरीके से ऐडमिशन ले सकते हैं, पहला डी फार्मा कोर्स कंप्लीट करने के बाद और दूसरा डायरेक्ट बी फार्मा कोर्स करने के लिए कोर्स के अंदर अभ्यार्थियों को कौन सी दवाई किस रोग में काम आएगी तथा मेडिसिन बनाने की प्रक्रिया आदि को पढ़ाया जाता है। बी फार्मा के 4 वर्षों के कोर्स में 8 सेमेस्टर होते हैं प्रत्येक सेमेस्टर 6 माह के समय अवधि का होता है। अगर आप इन सभी चीजों में अपनी रुचि रखते हैं तो आपके लिए एक अच्छा विकल्प सिद्ध हो सकता है। इस कोर्स को करने के बाद आप किसी भी सरकारी या फिर गैर सरकारी क्षेत्रों में आसानी से नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

शैक्षणिक योग्यता:- अनुमानित फीस
यदि आपने 12वीं में जीव विज्ञान भौतिक विज्ञान रसायन विज्ञान के विषयों के साथ 50% अंकों से उत्तीर्ण किया है, तो आप यह कोर्स करने के लिए योग्य माने जाएंगे।इस कोर्स को करने के लिए आप अभ्यार्थियों को गैर सरकारी कॉलेजों में लगभग ₹3,00,000 से लेकर ₹4,00,000 शुल्क देना पड़ता है और सरकारी कॉलेजों में इसका शुल्क ₹50,000 से लेकर ₹85,000 हो सकता है।

3. एम फार्मा

यह 2 वर्षों का फार्मेसी के क्षेत्र में मास्टर डिग्री कोर्स है। इस कोर्स के अंतर्गत छात्रों को 4 सेमेस्टर पढ़ाए जाते हैं, प्रत्येक सेमेस्टर 6 माह की अवधि का होता है। इस कोर्स के अंतर्गत अभ्यार्थी फार्मेसी के किसी भी क्षेत्र में अपने अनुसार किसी एक ब्रांच में विशेषज्ञता की डिग्री हासिल कर सकता है।

शैक्षणिक योग्यता अनुमानित फीस
एम फार्मा कोर्स करने के लिए स्टूडेंट्स को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से 50% अंकों के साथ मास्टर ऑफ फार्मेसी या समकक्ष योग्यता होनी अनिवार्य होती है।
एम फार्मा में एडमिशन लेने के लिए छात्रों को बी फार्मा की डिग्री और जी पेट टेस्ट देना अनिवार्य है।
उम्मीदवार को फार्मेसी के क्षेत्र में मास्टरी का कोर्स करने के लिए सरकारी कॉलेजों में ₹50,000 से लेकर ₹1,00,000 तक शुल्क देना पड़ता है। वहीं पर गैर सरकारी कॉलेजों में इस कोर्स को करने के लिए अभ्यर्थियों को ₹2,00,000 से लेकर ₹5,00,000 तक शुल्क देना पड़ सकता है। अलग-अलग गैर सरकारी कॉलेजों में इसकी फीस थोड़ी कम या थोड़ी ज्यादा भी हो सकती है। छात्र किसी भी गैर सरकारी कॉलेजों में ऐडमिशन लेने से पहले एक बार शुल्क के बारे में जरूर जानकारी कॉलेज की वेबसाइट से या फिर कॉलेज में जाकर पता कर ले।

ध्यान दें:-  आप जिस किसी भी फार्मेसी कॉलेज में ऐडमिशन ले रहे हो वह कॉलेज पीसीआई और एआईसीटीई द्वारा अप्रूव्ड हो। तभी आप की डिग्री मान्य होगी अन्यथा आपका समय और पैसा दोनों व्यर्थ हो जाएगा।

फार्मासिस्ट के क्षेत्र में जरूरी कौशल?

अगर आप फार्मासिस्ट के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको निम्नलिखित प्रकार की कुशलता होनी भी जरूरी है।

  1. सटीकता
  2. मरीजों को सलाह देना
  3. विश्लेषणात्मक
  4. रूबी द्वारा पूछे गए प्रश्न दवाइयों और उनके साइड इफेक्ट के बारे में बताना
  5. दवाओं की ताकत और पवित्रता का मूल्यांकन करना
  6. ध्यान दें विवरण के लिए
  7. उचित खुराक की गणना करना
  8. संभावित दवाओं के संपर्क के लिए दवाओं की रोगी सूची की जांच करना
  9. चिकित्सकों के साथ वार्ता के माध्यम से संदिग्ध आदेशों को स्पष्ट करना
  10. सहयोग
  11. संचार
  12. जटिल दवाएं
  13. वैज्ञानिक और चिकित्सा को समझना कॉन्ट्रैक्टिंग कॉस्ट्स
  14. मेडिसिन की सूची नियंत्रित करना
  15. महत्वपूर्ण सोच
  16. ग्राहक सेवा

फार्मासिस्ट में रोजगार के क्षेत्र?

फार्मेसी का कोर्स सफलतापूर्वक कंपलीट करने के बाद अभ्यार्थियों को फार्मेसी के क्षेत्र में बहुत सारे नौकरी के विकल्प मिल जाते हैं। जिसमें उनको एक अच्छी नौकरी के साथ साथ सैलरी भी अच्छी मिल जाती है।

फार्मासिस्ट के लिए निम्नलिखित रोजगार के क्षेत्र-

  1. मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव
  2. क्लीनिकल रेसेअर्चेर
  3. मार्किट रिसर्च एनालिस्ट
  4. मेडिकल राइटर
  5. एनालिटिकल केमिस्ट
  6. फार्मासिस्ट
  7. मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव
  8. क्लीनिकल रेसेअर्चेर
  9. ऑन्कोलॉजिस्ट
  10. एनालिटिकल केमिस्ट
  11. रेगुलेटरी मेनेजर

फार्मासिस्ट का वेतन रुझान?

एक सफल फार्मासिस्ट बनने के बाद उम्मीदवार को निजी और सरकारी अस्पतालों, दवाइयों की दुकानों, क्लीनिक और नर्सिंग होम जैसे क्षेत्रों में अच्छा वेतन मिलता है। एक फार्मासिस्ट का निजी और सरकारी अस्पतालों के क्षेत्र में एक अनुमानित वेतन ₹15,000 से लेकर ₹26,000 तक मिल सकता है। अतः आपके पास पैसे और समय दोनों की कमी है तो यह क्षेत्र आपके लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है। करियर के लिहाज से फार्मेसी के क्षेत्र में आपको आगे चलकर बहुत ढेरों करियर विकल्प मौजूद होने वाले हैं।

प्रमुख संसथान

NameStateScoreRank
Jamia HamdardDelhi78.521
Panjab UniversityChandigarh77.992
Birla Institute of Technology & Science -PilaniRajasthan75.573
National Institute of Pharmaceutical Education and Research MohaliPunjab74.524
Institute of Chemical TechnologyMaharashtra74.185
National Institute of Pharmaceutical Education and Research HyderabadTelangana74.086
JSS College of PharmacyTamil Nadu68.997
Manipal College of Pharmaceutical Sciences, ManipalKarnataka67.658
JSS College of PharmacyKarnataka65.189
National Institute of Pharmaceutical Education and Research AhmedabadGujarat63.3010
Amity UniversityUttar Pradesh61.4811
Amrita Vishwa VidyapeethamTamil Nadu61.2112
National Institute of Pharmaceutical Education and Research RaebareliUttar Pradesh60.3313
SVKM`s Narsee Monjee Institute of Management StudiesMaharashtra59.9914
S.R.M. Institute of Science and TechnologyTamil Nadu58.3915
Annamalai UniversityTamil Nadu57.8616
Poona College of Pharmacy, PuneMaharashtra55.9717
Punjabi University, PatialaPunjab55.7418
National Institute of Pharmaceutical Education and Research GuwahatiAssam55.7319
Nirma UniversityGujarat55.0620
Sri Ramachandra Institute of Higher Education and ResearchTamil Nadu54.8221
Banasthali VidyapithRajasthan54.2122
Lovely Professional UniversityPunjab54.2023
Maharaja Sayajirao University of BarodaGujarat53.3324
Bombay College of PharmacyMaharashtra53.2425
Birla Institute of TechnologyJharkhand52.3426
Guru Jambheshwar University of Science and TechnologyHaryana51.2827
SVKM’s Dr. Bhanuben Nanavati College of PharmacyMaharashtra51.2028
I. S. F. College of PharmacyPunjab50.7729
AU College of Pharmaceutical SciencesAndhra Pradesh50.5230
Maharshi Dayanand UniversityHaryana50.1931
Delhi Pharmaceutical Sciences and Research UniversityDelhi50.0832
National Institute of Pharmaceutical Education and Research KolkataWest Bengal49.9033
Maharishi MarkandeshwarHaryana49.8134
Chitkara UniversityPunjab49.6835
Shoolini University of Biotechnology and Management SciencesHimachal Pradesh49.3836
Vels Institute of Science, Technology & Advanced Studies (VISTAS)Tamil Nadu49.0637
Dibrugarh UniversityAssam48.8938
Dr. D. Y. Patil Institute of Pharmaceutical Sciences and ResearchMaharashtra48.2739
KLE College of Pharmacy, BelgaumKarnataka46.2640
Integral UniversityUttar Pradesh45.7041
Guru Ghasidas VishwavidyalayaChhattisgarh45.6442
Noida Institute of Engineering and Technology (Pharmacy Institute)Uttar Pradesh45.5043
Sri Padmavathi Mahila VisvavidyalayamAndhra Pradesh45.4044
Nitte Gulabi Shetty Memorial Institute of Pharmaceutical SciencesKarnataka45.3945
Smt. Kishoritai Bhoyar College of PharmacyMaharashtra44.9146
L. M. College of PharmacyGujarat44.7747
Kakatiya UniversityTelangana44.4048
Bharati Vidyapeeth College of Pharmacy, KolhapurMaharashtra43.7449
R. C. Patel Institute of Pharmaceutical Education & ResearchMaharashtra43.3450
Chandigarh UniversityPunjab43.3351
M.S. Ramaiah University of Applied SciencesKarnataka43.1252
Y. B. Chavan College of PharmacyMaharashtra43.0353
Sri Venkateswara UniversityAndhra Pradesh42.3654
Raghavendra Institute of Pharmaceutical Education & ResearchAndhra Pradesh42.1655
Goa College of PharmacyGoa42.1356
Amar Shaheed Baba Ajit Singh Jujhar Singh Memorial College of PharmacyPunjab42.1157
Kumaun University, NainitalUttarakhand41.8958
G. L. A. UniversityUttar Pradesh41.7859
Acharya & B M Reddy College of PharmacyKarnataka41.6660
Anurag UniversityTelangana41.2861
Sri Venkateswara College of PharmacyAndhra Pradesh41.2062
Chandigarh College of Pharmacy, LandranPunjab40.7263
PSG College of PharmacyTamil Nadu40.4064
Bharati Vidyapeeth’s College of PharmacyMaharashtra40.2665
C.U. Shah College of PharmacyMaharashtra40.1366
Mohan Lal Sukhadia UniversityRajasthan39.8067
Bundelkhand UniversityUttar Pradesh39.6168
Guru Nanak Institute of Pharmaceutical Science & TechnologyWest Bengal39.4769
Chalapathi Institute of Pharmaceutical SciencesAndhra Pradesh39.4769
Pt. Ravishankar Shukla UniversityChhattisgarh39.3371
Jaipur National UniversityRajasthan38.7072
Vishnu Institute of Pharmaceutical Education and ResearchTelangana38.7072
KMCH College of PharmacyTamil Nadu38.6774
Sri Adichunchanagiri College of PharmacyKarnataka38.5875

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

प्रशन – क्या बी फार्मा  वाले अब्रॉड जा सकते है?

उत्तर – हाँ बिलकुल कर सकते है। आप कोई सा कोर्स करके बहार जा सजते है।

प्रशन –क्या बी फार्मा  वालो को डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करना चाहिए या नहीं?

उत्तर – हाँ बिकुल करना चाहिए, डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए आपको किसी कोर्स की ज़रुरत नहीं है। यह कोर्स आज की दुनिया में तेज़ी से बढ़ रहा आने वाले टाइम में इसकी बहुत डिमांड बढ़ने वाली है।

प्रशन – क्या आप लोग इस कोर्से के जुडी किसी समस्या में आगे भी जानकारी देंगे ?

उत्तर – बिक्लुल आपको किसी भी तरह की समस्या होने पर हमारे द्वारा आपको इस विषय पर पूरी जानकारी दी जायेगी |

प्रशन – अपना व्यवसाय करने में इससे किसी तरह का लाभ मिलेगा ?

उत्तर – ज्ञान कभी भी व्यर्थ नहीं जाता और अगर ज्ञान उपयोगी हो तो और लाभदायक होता है इस विषय में ज्ञान प्राप्त करके आप चाहें तो अपने व्यापार में भी इसका लाभ ले सकते हैं इससे आपको व्यापार के लिए काफी सहायता भी मिल सकती है |

प्रशन – इस कोर्से को कारने के बाद डिजिटल मार्केट में हम कैसे इससे लाभ ले सकते हैं ?

उत्तर – आने वाले भविष्य में व्यापार या कोई भी कार्य सभी डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से ही किया जा जसेगा इसलिए ये डिजिटल मार्किट आने वाले समय में अतिआव्शय्क होगा |

5/5 - (3 votes)

Click here for more Education News
About Pooja Roy

Pooja Roy is a content writer here, she has a bachelors degree. For any queries & corrections comment below.

Leave a Comment