करियर सुझाव: BDS में करियर बनाना चाहते है तो यह लेख अवस्य पढ़ें..

    0
    309
    Career in BDS in Hindi
    Career in BDS in Hindi

    हम सभी के निजी लाइफ में स्वस्थ्य और सुन्दर दाँत एक विशेष भूमिका अदा करती है| दाँतों के बिना हम सभी का जीवन कल्पना से परे है | दाँतों के बिना हमें भोजन करने में बड़ी दिक्कत होती है और बिना भोजन के हम जीवित नही रह सकते है, क्योकि भोजन से ही हमें उर्जा मिलती हैं | शायद ये पीड़ा हम सबने कभी न कभी ज़रुर महसूस की होगी, कभी दाँत में दर्द के कारण, कीड़े लगने के कारण या कभी फिर दाँत निकलने के कारण | दाँतों के बिना तो प्यारी मुस्कान भी फीकी सी नज़र आती है, या हम कह सकते है कि स्वस्थ्य दाँत हमारे जीवन में उतने ही जरूरी है जितना की हमारे शरीर के अन्य अंग | हमारा आज का यह आर्टिकल दांत के रख-रखाव एवं सुरक्षा से जुडी BDS (Bachelor of Dental Surgery) कोर्स के बारे में है| आइये जानते है कि BDS क्या है? इसमें करियर कैसे बनाएं, आवश्यक शैक्षिक योग्यता एवं BDS करने हेतु भारत के कुछ प्रमुख संस्थान आदि |

    BDS क्या है?

    बी. डी. एस. में आपको दन्त चिकित्सा के बारे में बताया जाता है | यह डेंटल साइंस से सम्बंधित एक डिग्री कोर्स हैं | इसमें आपको दाँतों से जुड़ी सभी तरह की बीमारी और उसके इलाज़ के बारे में बताया जाता है | इन कोर्स में आपको दातों के उपचार, प्रत्यारोपण, Maxillofacial prosthesis, Ocular prosthesis आदि के बारे में बताया जाता है |

    Get Latest Info. About this Institution/Entrance, via SMS & Email.

    प्रमुख डेंटल कोर्स (Dental Courses)

    डेंटल टेक्नोलॉजी में करियर बनाने के लिए आप निम्नलिखित कोर्स चुन सकते है |

    • बी. डी. एस. (BDS) – बी. डी. एस. (बैचलर ऑफ़ डेंटल सर्जरी) एक डेंटल साइंस डिग्री कोर्स हैं | यह स्नातक स्तर का कोर्स है | जिसे आप इंटरमीडिएट (12वी) के बाद ही कर सकते है | इसमें आपको दाँतों से जुड़ी सभी तरह की बीमारी और उसके इलाज़ के बारे में बतलाया जाता है|
    • एम.डी.एस. (MDS) – एम.डी.एस. (मास्टर ऑफ़ डेंटल सर्जरी) एक परास्नातक कोर्स है | जिसे आप बी. डी. एस. करने के बाद ही कर सकते है | हम MDS के विभिन्न कोर्स में से एक कोर्स चुन कर अपनी योग्यता और काबिलियत दोनों ही बढ़ा सकते है|

    यदि आप भी डेंटल सर्जरी में अपना करियर बनाना चाहते है तो तो ऊपर दिए गए कोर्स में से किसी भी एक कोर्स को चुन कर आप अपना करियर बना सकते है| आइये अब हम आपको इसके बारे में विस्तार से जानकारी देते है |

    BDS के लिए आवश्यक योग्यता

    Eligibility (योग्यता)
    • उम्मीदवारों को बी.डी.एस. में प्रवेश के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 10+2 में विज्ञान में 50% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है|
    • एम.डी.एस. में प्रवेश के लिए उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से बी.डी.एस. की डिग्री होना अनिवार्य है|
    Age (उम्र)
    • 17 वर्ष या उससे अधिक
    Qualification (शैक्षिक योग्यता)
    • इंटरमीडिएट, बी.डी.एस.
    Admission Process (प्रवेश प्रक्रिया)
    • ऑल इंडिया एंट्रेंस एग्जाम (NEET)

    पाठ्यक्रम

    भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (Medical Council of India) के द्वारा बी.डी.एस./ एम.डी.एस. कोर्स संचालित किया जाता है | साढ़े पांच साल के इस कोर्स को करने के उपरांत आपको बैचलर ऑफ डेंटल साइंस (BDS) की डिग्री दी जाती है। तथा एम.डी.एस. के लिए बी.डी.एस. की डिग्री होना अनिवार्य है |

    आवश्यक कौशल

    • हाथ और आंख के बीच अच्छा समन्वय।
    • बहुत सटीक और सटीक काम करने की दक्षता.
    • दीर्घकालिक कार्यों पर ध्यान केंद्रित करने की क्षमता।
    • सटीकता और विस्तार पर अच्छा ध्यान |
    • जटिल तकनीकी निर्देशों को समझने और समझाने की क्षमता।

    नौकरी के विकल्प

    BDS/MDS में डिग्री प्राप्त करने के बाद आपको सरकारी अस्पतालों या निजी अस्पतालों में डॉक्टर के रूप में जॉब मिल सकती है,  या फिर आप अपना निजी अस्पताल, क्लिनिक भी खोल सकते है | आप किसी भी मेडिकल संस्थान में अध्यापक के पद पर कार्यरत भी हो सकते है | अत: यह कहना गलत न होगा कि करियर के लिहाज से BDS कोर्स एक अच्छा विकल्प है|

    संभावनाए

    समय के साथ-साथ वर्तमान में दांतों के डॉक्टर की मांग बढ़ी है| अपने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही एवं त्रस्त होती जीवन शैली के बीच आज हम दांतों पर विशेष फध्यान नहीं दे पाते| ऐसे में दांतों के बीच में कैविटी रह जाती है, और दांत अच्छी तरह से साफ़ नही हो पाते | वर्तमान समय में हर घर में किसी न किसी को ये समस्या होती है | हर अस्पतालों में इसके लिए एक अलग सा विभाग भी होता है | इन सब तथ्यों के मद्देनजर तो यही कहा जा सकता है कि आने वाला कल डेंटल सर्जरी में दक्ष प्रोफेशनल का है|

    सैलरी 

    BDS/ MDS में डिग्री पाने के बाद किसी हॉस्पिटल में ट्रेनी (जूनियर डॉक्टर) के रूप में नियुक्त किया जा सकता है, बाद में आप डॉक्टर के पद पर नियुक्त हो सकते है | इसमें सैलरी 20,000/- से 80,000/- तक भी हो सकती है, तथा निजी संस्थानों में ये 20,000/- से 2,50,000 तक हो सकती हैं | अत: करियर के लिहाज से हम कह सकते है कि Dental Surgery में करियर बनाना अच्छा निर्णय हो सकता हैं|

    प्रमुख संस्थान

    यदि उपरोक्त जानकारियाँ, डेंटल सर्जरी करियर से जुड़े आपके सवालों का जवाब देने में सक्षम रही हो तो अपने बहुमूल्य सुझाव हमे देना न भूले |

    जीत की शुभाशीष..

    Summary
    Review Date
    Reviewed Item
    करियर सुझाव: BDS में करियर बनाना चाहते है तो यह लेख अवस्य पढ़ें..
    Author Rating
    51star1star1star1star1star

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here