भारत में साइबर लॉ का बढ़ता क्रेज (Career in Cyber Law in Hindi)

    0
    123
    Career in Cyber law in India in Hindi
    Career in Cyber law in India in Hindi

    अमूमन अपने दोस्तों के बीच फेसबुक अथवा किसी अकाउंट को हैक कर लेने की बाते तो आपने सुनी ही होगी| | परन्तु क्या आपको पता है कि इन्टरनेट के इस बढ़ते क्रेज में कुछ एक्सपर्ट ऐसे भी होते है जो न सिर्फ आपके कंप्यूटर को हैक कर सकते है वरण जरुरत परने पर आपके कंप्यूटर को Zombie बना वे दुसरे सिस्टम अथवा नेटवर्क पर भी हमला करवा सकते है| ऐसे लोगो को बोलचाल की भाषा में हैकर (Hacker) कहा जाता है| आज जहाँ कंप्यूटर हमारी पहली प्राथिमिकता बन गयी है तो वही दूसरी और डाटा लीक कर करोड़ों की चपत कर देना भी बेहद आम बात हो गयी है| ऐसे में समाज में साइबर एक्सपर्ट की मांग तेजो से बढ़ी है| इस लेख के माध्यम से आज हम आपको Career in Cyber Law in Hindi से जुड़ीं तमाम जानकरियों को सांझा करेंगे|

    परिचय(Introduction):

    साइबर कानून डिजिटल कानूनी प्रणाली का एक हिस्सा है जो इंटरनेट, साइबर स्पेस, और उनके संबंधित कानूनी मुद्दों से संबंधित है। साइबर कानून में काफी व्यापक क्षेत्र शामिल है, जो कई उप-विषयों पर  केन्द्रित हैं जिनमें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, इंटरनेट पर पहुंच और उपयोग, और ऑनलाइन गोपनीयता इत्यादि सम्मिलित है| साइबर कानून को बोलचाल की भाषा में इन्टरनेट का कानून भी कहा जा सकता है जिसके माध्यम से हमे इन्टरनेट में बिना रोक-टोक एवं स्वतंत्र भाव से (पर्सनल डाटा खो जाने के भय से परे) कंटेंट ब्राउज करने में सहूलियत मिलती है|

    Get Latest Info. About this Institution/Entrance, via SMS & Email.

    आज, कंप्यूटरों को बड़े पैमाने पर गोपनीय डेटा स्टोर करने में यूज़ किया जाता है ऐसे में आपका बहुमूल्य डाटा किसी फ्रॉड या धोखाधड़ी का शिकार ना हो जाये, साइबर कानून इसी से सम्बंधित है| आज हमे इंटरनेट और कंप्यूटर का व्यापक इस्तेमाल आर्थिक पहलुओं जैसे कि बैंकिंग डेटा, वित्तीय रिकॉर्ड या व्यक्तिगत प्रकृति इत्यादि में काफी लाभ पहुंचाती हैं। ऐसे में जहाँ रोजमर्रा की जिंदगी में कंप्यूटर की दखल अंदाजी इस कदर बढ़ गयी है वहां उसके दुष्परिणामो को रोकने के लिए ही साइबर कानून की नीव रखी गयी|

    साइबर क्राइम के प्रकार (Types of Crimes)

    अब तक तो शायद आपको इस बात का अंदाज़ा लग ही गया होगा कि हमारे रोजमर्रा के ज़िन्दगी में घुली साइबर क्राइम की इस मीठी जहर को उखाड़ फेंकने हेतु एक सख्त कानून की कितनी ज्यादा आवस्यकता होगी| ऐसे में भारत ने भी अपने बढ़ते इन्टरनेट उपभोगताओं को एक साफ़ एवं सिक्योर इन्टरनेट एक्सेस देने हेतु साइबर कानून के कुछ निश्चित आयाम निर्धारित किये है| आइये डालते है एक नजर साइबर लॉ से जुड़ें कुछ बेहद ही महत्वपूर्ण पहलुओं पर|

    तंग करना (Online Harrasment & Stalking)

    भारतीय टेलिकॉम इंडस्ट्रीज में Jio के दस्तक ने तो मानो एक क्रांति ही लाकर रख दी| आज आलम यह है कि लोगो के पास बैंक अकाउंट हो या ना हो पर फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया एप्प में तो अकाउंट होगा ही| ऐसे में गलत धारणा से किसी दुसरे उपभोगता के निजी जिंदगी में ताक-झांक करना या फिर दुसरे के इमेज को धूमिल करना तो मानो रोज की बात हो गयी| आज आपको सोशल नेटवर्क में मनचलों की एक भीड़ बड़े ही आसानी से देखने को मिल जाएगी जिनका काम ही बस दूसरों को तंग करना है| मगर ध्यान दे अगर आगे से कोई आपको Online Harrasment अथवा Stalking से परेशान करे तो आप अपने नजदीकी साइबर सेल से संपर्क कर सकते है|

    • कानून:–आईटी (संशोधन) कानून 2009 की धारा 66 (ए)
    • सजा: तीन साल तक की जेल और/या जुर्माना

    आईपीआर (बौद्धिक संपदा) उल्लंघन (Copyright Infringement)

    कल्पना करे कि आपके द्वारा लिखी या इजात की गईं चीज आपके अनुमति के बिना ही दुसरे जगह देखने को मिल जाए तो आप पर क्या बीतेगी? आज कम समय में ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाने के इसी लालच ने हमारे समाज में बौद्धिक संपदा उल्लंघन जैसे जुर्म को जनम दिया| ऐसे में आज कट, कॉपी एवं पेस्ट के इस युग में अपने कंटेंट को बचाए रखने के लिए भी आप साइबर लॉ की सहायता ले सकते है|

    • कानून:– कॉपीराइट कानून 1957 की धारा 14, 63 बी
    • सजा: सात दिन से तीन साल तक की जेल और/या 50 हजार रुपये से दो लाख रुपये तक का जुर्माना।

    डेटा की चोरी – (Data Theft)

    व्यक्ति, संगठन अथवा पृष्टभूमि के किसी भी डेटाबेस से तकनीकी रूप में सक्षम लोग डाटा में सेंध लगायें (बिना मौलिक अधिकार के) तो भी यह डाटा चोरी साइबर कानून के तहत ही आती है| अगर किसी संगठन के अंदरूनी डेटा तक आपकी आधिकारिक पहुंच है, लेकिन अपनी जायज पहुंच का इस्तेमाल आप उस संगठन की इजाजत के बिना, उसके नाजायज दुरुपयोग की मंशा से करते हैं, तो वह भी इसके दायरे में आएगा।

    • कानून– आईटी (संशोधन) कानून 2008 की धारा 43 (बी), धारा 66 (ई), 67 (सी) / आईपीसी की धारा 379, 405, 420 / कॉपीराइट कानून
    • सजा: अपराध की गंभीरता के हिसाब से तीन साल तक की जेल और/या दो लाख रुपये तक जुर्माना।

    अन्य बेहद ही आम साइबर जुर्म

    साइबर जुर्म  परिभाषा कानून  सजा
    हैकिंग किसी कंप्यूटर, डिवाइस, इंफॉर्मेशन सिस्टम या नेटवर्क में अनधिकृत रूप से घुसपैठ करना और डेटा से छेड़छाड़ करना|
    • आईटी (संशोधन) एक्ट 2008 की धारा 43 (ए), धारा 66
    • आईपीसी की धारा 379 और 406 के तहत कार्रवाई मुमकिन
    साबित होने पर 3 साल तक की जेल और/या 5 लाख रुपये तक जुर्माना।
     पोर्नोग्राफी  फ़ोटो, विडियो, टेक्स्ट, ऑडियो इत्यादि सामग्री जिसकी प्रकृति यौन हो और जो यौन कृत्यों और नग्नता पर आधारित हो।
    • आईटी (संशोधन) कानून 2008 की धारा 67 (ए)
    • आईपीसी की धारा 292, 293, 294, 500, 506 और 509
     जुर्म की गंभीरता के लिहाज से पहली गलती पर पांच साल तक की जेल और/या दस लाख रुपये तक जुर्माना।

    दूसरी बार गलती करने पर जेल की सजा सात साल हो जाती है।

     ई-मेल स्पूफिंग और फ्रॉड  दूसरे शख्स के ई-मेल id का इस्तेमाल गलत मकसद से करना|  

    • आईटी कानून 2000 की धारा 77 बी
    • आईटी (संशोधन) कानून 2008 की धारा 66 डी
    • आईपीसी की धारा 417, 419, 420 और 465।
     तीन साल तक की जेल और/या जुर्माना।
     पहचान की चोरी  दूसरे शख्स की पहचान से जुड़े डेटा, गुप्त सूचनाओं वगैरह का इस्तेमाल गलत मंसूबे के लिए करना।  

    • आईटी (संशोधन) एक्ट 2008 की धारा 43, 66 (सी)
    • आईपीसी की धारा 419 का इस्तेमाल मुमकिन
    तीन साल तक की जेल और/या एक लाख रुपये तक जुर्माना।

    भारत में साइबर लॉ का बढ़ता क्रेज (Career in Cyber Law in Hindi)

    हालाँकि यह बात यहाँ ध्यान देने लायक है कि तमाम मापदंडो की उपस्थिति के बावजूद भी आज हर दिन भारत में करीब 4000 (*अनुमानित) साइबर क्राइम के केस दर्ज होते है| यह संख्या इस बात को बताने में सक्षम है कि किस तरह हमारे समाज में आज साइबर क्राइम की जड़ें मजबूत होती जा रही है| ऐसे में एक शिक्षित साइबर लॉ एक्सपर्ट, पुलिस एवं कानून व्यवस्था को इस तरह के ठगी से बचाने हेतु काफी ज्याद आवश्यक है| आइये डालते है एक नजर भारत में मौजूद साइबर लॉ के कुछ बेहद ही पोपुलर कोर्सेज एवं उससे संबधित अन्य पात्रता/योग्यता पर|

    Career in Cyber Law in Hindi
    Career in Cyber Law in Hindi

    योग्यता (Eligibility)

    यहाँ बताते चले कि साइबर लॉ में career बनाने हेतु आपको भारत में ढेर सारे डिप्लोमा एवं सर्टिफिकेट कोर्सेज आसानी से मिल जायेंगे| इन कोर्सेज का पाठ्यक्रम अमूमन 6 महीने से लेकर 2 साल तक लम्बी हो सकती है| ज्यादातर मामलों में यही देखा गया है कि इन कोर्सेज में दाखिला लेने हेतु मिनिमम योग्यता ग्रेजुएशन की होती है| यदि आप लॉ या लॉ से सम्बंधित अन्य इंटीग्रेटेड कोर्स (BA LLB / BBA LLB) इत्यादि कर रहे है तो यह आपके कर्रिकुलम में ही शामिल होगी|

    साइबर लॉ कोर्सेज और फीस (Courses Offered and Fee)

    Course Average Course Fees
    Diploma in Cyber Law 5K to 6K
    PG Program in Cyber Law 12K-15K
    Advanced Program in International Cyber Laws 20K-25K
    PG Program in Cyber Crime Prosecution & Defense 20K-25K
    ASCL Certified Cyber Crime Investigator 20K-25K
    ASCL Certified Digital Evidence Analyst 30K-35K
    PG Program in Cyber Crime & Corporate Liability 20K-25K
    PG Program in Cyber Security & Incident Response 45K-50K
    Advanced Program in Cyber Warfare & Defense 30K-35K

    तनख्वाह (Salary)

    एक प्रशिक्षित साइबर एक्सपर्ट अपने बहुमूल्य सुझावों से काफी ज्यादा कमाई कर लेते है मगर आप चाहे तो शुरुवात में किसी प्राइवेट कंपनी/ संस्था/ पुलिस महकमे अथवा संसोधित रूप से क़ानूनी प्रणाली में अपनी दिलचस्पी दिखा सकते है| शायद सैलरी के लिहाज से यह जॉब अभी काफी नयी हो मगर भविष्य की बढती संभावना देख तो यही कहा जा सकता है कि आगे आने वाला कल साइबर एक्सपर्ट का ही होगा|

    प्रमुख संस्थान (Top Cyber Law Colleges in India)

    यदि आप भी समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते हैं और अपने लोगो के रोजमर्रा के परेशानियों को हल करने के लिए हमेसा उत्सुक रहते हैं तो Cyber Crime Expert Course खास आपके लिए ही बनी हैं|


    बारहवी के बाद  अब आगे क्या…? कॉमर्स करियर विशेषांक

    बारहवी के बाद  अब आगे क्या…? आर्ट्स  करियर विशेषांक

    इंजीनियरिंग मेडिकल के अलावा साइंस के ये 100+ करियर आप्शन देखना न भूले.


    यदि आप भी करियर सम्बंधित किसी तरह के परेशानियों से जूझ रहे हैं तो हमसे संपर्क करना न भूले| याद रहे केवल उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता हैं| आप अपनी उलझने हमें नीचें दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर भी हमसे सवाल पूछ सकते हैं|

    शुभाशीष
    आपका अपना
    राकेश मंडल…

    Summary
    Review Date
    Reviewed Item
    भारत में साइबर लॉ का बढ़ता क्रेज (Career in Cyber Law in Hindi)
    Author Rating
    51star1star1star1star1star
    Disclaimer: All the information (including colleges, universities, their respective courses etc.) on Edufever.com has been compiled from the respective websites, newspaper and other reliable sources available in the public domain. While every care has been taken to present the information in most comprehensive, accurate and updated form during compilation, yet Edufever doesn't take any kind of responsibility regarding the content. However, if you have found any inappropriate or wrong information/data on the site, inform us by emailing us at [[email protected]] for rectification/deletion/updating of the same.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here