सावधान…!! कही Management Quota Admission के नाम पर आप ठगे तो नहीं जा रहे ?

    1
    37
    Truth Behind Admission Consultancy
    Special Report on Management Quota Admission

    Truth Behind Admission Consultancy: मेरा एक भाई है तरुण. इस बार बारहवी की एग्जाम दी थी| उम्मीदे तो बहुत थी कि रिजल्ट अच्छा रहेगा, मगर सारे आशाओं पर पानी फेरते उसके परफॉर्मेंस ने परिवार के साथ-साथ मुझे भी टेंशन में  डाल दिया| गुस्से में आ मामाजी ने भी कह दिया कि “अब आगे भविष्य के बारे में सोचने से अच्छा हैं कल से दुकान में बैठने की तैयारी करो”| मामाजी के गुस्से से बाहर निकल किसी तरह की नसीहत भी नहीं दी जा रही थी| अंत में सारे करियर आप्शन एवं भाई के योग्यता को परखते हुए हमने यह फैसला लिया कि भाई को BBA (Bachelor of Business Administration) करवाएं|

    Truth Behind Admission Consultancy
    Truth Behind Admission Consultancy

    बहुत सारे कॉलेज में से एक कॉलेज (नाम नहीं बताऊँगा) का चयन कर हमने आगे एडमिशन के सम्बन्ध में किसी Admission Councellor की सलाह लेनी चाही| ऐसे में मैनेजमेंट कोटा के नाम पर चल रहे गोरखधंधे को मुझे काफी करीब से देखने का मौका मिला| एडमिशन से लेकर टोकन मनी तक तथा कॉलेज विजिट से आगे फ्यूचर में आये परेशानियों के बीच मैंने जो भी फील की आज इस आर्टिकल के माध्यम से आप सब के सामने पहुचाना चाहता हूँ| आशा करता हूँ कि इस लेख को पढ़ आगे आपको सही एवं गलत का फैसला करने में आसानी होगी|


    Truth Behind Admission Consultancy


    इससे पहले कि आप सही और गलत का फैसला ले, मैं चाहता हूँ कि आप Admission Consultancy से जुड़ीं कुछ टर्म्स को समझे ताकि आगे आपको लेख पढने में किसी तरह की परेशानी न हो|

    Admission Councellor किसे कहते हैं?


    बढती आबादी एवं सिमित कॉलेज की मौजूदगी कही न कही हमारे करियर के रास्ते में सबसे बड़े बाधे का काम करती है| हालाँकि बहुत से बच्चे एक कुशल टाइम मैनेजमेंट एवं मेहनत के दम पर किसी प्रतिष्ठित एग्जाम में अच्छा स्कोर कर टॉप के कॉलेज में दाखिला पा जाते हैं| मगर वही दुसरे तरफ ऐसे बच्चों की भी कोई कमी नहीं जो निर्धारित मापदंडो को पूरा नहीं कर पाते| ऐसे में उनकी डूबती नैया को पार लगाने की जिम्मेदारी Admission Councellor के हाथों में चली जाती है|

    Direct Admission
    Sponsored

    बच्चो के परेशानियों एवं उलझनों को बारीकी से अध्यन कर एक अच्छा Admission Councellor आपको किसी प्रतिष्ठित कॉलेज में दाखिले के अन्य विकल्प बतलाते हैं| इसके एवज में चार्ज की गयी राशी को Consultancy Fees या फिर कहे तो  Admission Charge कहा जाता हैं|

     

    Capitation Fee क्या होती हैं?


    यदि सुप्रीमकोर्ट के दिशानिर्देश की माने तो कैपिटेशन शुल्क का अर्थ एक अवैध लेनदेन से होता है| इसके तहत एक संगठन जो कि शैक्षणिक सेवाएं प्रदान करता है आपसे एक शुल्क जमा करवाने को कहता है जो कि विनियामक मानदंडों द्वारा अनुमोदित फीस के तुलना से थोड़ा अधिक होता है।

    इसे भी पढ़े: स्कालरशिप क्या हैं | Scholarship Benefits in Hindi | Scholarships के फायदे…!!

    इसे पढना भी जरुरी हैं: 10वी और 12वी में फ़ैल Students के लिए “NIOS ODE” बनी आश की किरण

    इसे भी पढ़े: स्पेशल रिपोर्ट: ITI के बाद डिप्लोमा (Polytechnic) का बढ़ता क्रेज

    किसी भी संस्था/व्यक्ति-विशेष की ओर से Donation Amount के रूप में मांगी गयी रकम (जिसके बारे में आपको कोई खबर नहीं) हो एवं अनुमानित रकम से ज्यादा की उगाही कर ली जाए तो यह भी भारतीय दंड संहिता के अनुसार गैर-क़ानूनी मानी गयी हैं|

    Token Money क्या होती हैं?


    आपका काम हो जायेगा| एक काम कीजिये फलना अकाउंट में 40-50 हजार के लगभग Token Money जमा करवा दीजिये“| आप में से ज्यादातर लोगो ने टोकन मनी के बारे में तो सुना ही होगा| दरअसल टोकन मनी को बोलचाल के भाषा में एडवांस भी कहा जा सकता हैं|

    Money Matters
    PC: youth jamaica

    आपके एडमिशन को कन्फर्म करने के लिए एक Admission Councellor कुछ मापदंडो को फॉलो करता है जिसमे पैसे खर्च होना लाजमी है| ऐसे में अगर ऐन वक़्त पर यदि कोई बच्चा एडमिशन लेने से मना कर देता है तो उस वक़्त यह टोकन मनी एक सिक्यूरिटी डिपाजिट के रूप में काम आती है|

    कैसे करे एक अच्छे Consultant की जाँच?


    हालाँकि यहाँ यह जानने लायक है कि सारे Admission Consultant का उद्देश्य ठगी अथवा छात्रों को बरगलाना नहीं होता| कुछ ऐसे कंसलटेंट भी है जो पूरी ईमानदारी एवं लगन से अपने युवा पीढ़ी का मार्गदर्शन कर रहे हैं ऐसे में यदि अपनी रोजी-रोटी चलाने के लिए आपसे कुछ पैसे चार्ज ही कर ली जाए तो मैं इसमें कोई बुरे नहीं मानता| मगर यहाँ सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि एक सही कंसलटेंट की पहचान कैसे की जाए|  घबराने की कोई बात नहीं, इन टिप्स के मदद से आप भी सही और गलत का पहचान कर सकते हैं|

    • कंसलटेंट के ऑफिस एड्रेस के बारे में जानकारी जुटाए| कही ऐसा तो नहीं कि हर साल वे अपना ठिकाना बदल रहे हो| ऐसे में यदि किसी भी तरह की शक हो तो तुरंत नेट अथवा अपने रिसोर्स का फायदा उठा सही जानकारी जुटाने की कोशिश करे|
    • कंसलटेंट के बातों पर आँख मूंद कर भरोषा करने से पहले क्रॉस-चेक जरुर कर ले| यदि किसी भी बात पर आपको शक लगता हो तो फिर आप तुरंत कॉलेज अथॉरिटी से संपर्क करे|
    • किस भी कंसलटेंट की ब्रांड-वैल्यू उनके Colloboration एवं तथ्यों की सटीकता से किया जा सकता है| ऐसे में यदि किसी एडमिशन काउन्सलर की बाते आपको झूठी लगे तो फ़ौरन एडमिशन से सम्बंधित सारे दस्तावेज पढ़े|
    • ध्यान दे कॉलेज फीस (ट्यूशन फीस) कम करवा दूंगा, कम मार्क्स पर भी स्कालरशिप दिलवा दूंगा जैसी बाते कई मायने में आपको सही एवं गलत की परख करने में मदद करेगी|

     Admission के वक़्त ध्यान देने लायक बाते


    आशा करते हैं कि उपरोक्त जानकारियाँ आपके काफी काम आये| अब बात करते हैं कॉलेज के चयन से जुड़ी कुछ बेहद ही खास बातो पर| हालाँकि कॉलेज के चयन में अब तक बच्चे केवल कॉलेज के ब्रांड को ही तवज्जो देते हैं | ज्ञात हो कि कई बार विज्ञापन के चमक-धमक और झूठी तारीफों के बीच बच्चे गलत कॉलेज का चयन कर लेते हैं| ऐसे में आप इन बेहद सटीक तथ्यों का अनुसरण कर किसी भी कॉलेज को आसानी से जज कर सकते हैं|
    • कॉलेज अथवा कोर्स के चयन के बीच अपने Abilities को परखना न भूले|
    • एक गोल निर्धारित करे कि आपको करना क्या है| कही ऐसा न हो कि करनी आपको कुछ और हो और केवल परिवार अथवा दोस्तों के दबाब में आपने इंजीनियरिंग का चयन कर लिया हो|
    • कॉलेज के ब्रांड जैसे की प्लेसमेंट, रैंकिंग, फैकल्टी एवं रिसर्च वर्क को जानने के बाद ही कॉलेज का चयन करे|
    • कॉलेज के चयन के वक़्त स्थान को नजरअंदाज़ करने की भूल न करे|
    • पैसा बोलता हैं| जी हाँ केवल इस लिए कि मेरा दोस्त प्राइवेट कॉलेज में पढता है तो मैं भी पढूंगा| गलत| कॉलेज के चयन के बीच अपने पैसे एवं पॉकेट का भी ध्यान रखे|

    महत्वपूर्ण लिंक

    Frequently Asked Questions (FAQ)


    आइये डालते हैं एक नजर Admission Consultancy से जुड़ी कुछ बेहद ही आम प्रश्नों एवं उनकें उत्तरों पर|

    Question: Low Rank होने के बाद भी क्या मुझे देश के नामचीन कॉलेज मिल पाएंगें?

    Answer: हालाँकि नामचीन कॉलेज के बारे में सबको पता होता हैं इसलिए ज्यादातर बच्चें इन कॉलेज को चॉइस-फिलिंग के वक़्त ज्यादा तवज्जों देते हैं| ऐसे में ऑनलाइन काउंसलिंग के वक़्त आपका Admission जिस कॉलेज में हो रहा है, उसके बारे में यदि आपको अधिक जानकारी नहीं है तो फिर आप उस कॉलेज का चयन नहीं कर पाते|जिस कारण से आप वहाँ Admission के लिए apply नहीं करते हैं, जिसका परिणाम यह होता है की उन quota की seats Top Engineering Colleges में भी vacant रह जाती है.

    Question: यदि मै किसी Admission Councellor को संपर्क कर किसी कॉलेज में आवेदन करता हूँ तो क्या मेरा यह डिसिशन सही रहेगा..?

    Answer: पैसे के उगाही के नाम पर आज जहाँ-तहां कम प्रसिक्षित अथवा अल्प ज्ञान वाले Counsellor देखने को मिल जाएंगे जो मात्र कुछ पैसे के एवज पर आपको गलत सलाह दे दे| ऐसे में यदि आप किसी गलत हाथों में चले जाए तो सही और गलत का अंदाजा लगा पाना लगभग असंभव सा हो जाता है| Councellor के बारे में अच्छे से जांच-पड़ताल करने एवं उनके सक्सेस रेट को जाने के बाद ही उनसे संपर्क करे|

    Question: Councelllor के माध्यम से लिए गये कॉलेज में प्लेसमेंट  कैसी होती हैं?

    Answer: एक बात गांठ बांध ले कि एक अच्छे कॉलेज की सबसे बड़ी विशेषता उस कॉलेज के प्लेसमेंट पर निर्भर करती है| हम चाहे जो भी बोल ले मगर किसी बच्च्चे को यदि नौकरी न मिल पाए तो फिर उस कॉलेज का कुछ अस्तित्व नहीं रह जाता| ऐसे में यदि कोई Councellor आपको झूठी जानकारी दे कॉलेज के प्लेसमेंट के बारे में बरगलाये तो फिर आप सीधे इस बारे में कॉलेज से संपर्क कर सकते हैं| याद रखे कि ज्यादातर मामलों पर Councellor  आपको सही-गलत से परे उन College के बारे में ही बताते है जिनके साथ उन्हें “ज्यादा फायदा” होता है|

     

    यदि आप भी करियर सम्बंधित किसी तरह के परेशानियों से जूझ रहे हैं तो हमसे संपर्क करना न भूले| याद रहे केवल उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता हैं|

    डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस लेख में प्रकट किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति Edufever उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार Edufever के नहीं हैं, तथा Edufever उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।

    Summary
    Review Date
    Reviewed Item
    सावधान...!! कही Management Quota Admission के नाम पर आप ठगे तो नहीं जा रहे...
    Author Rating
    51star1star1star1star1star

    1 COMMENT

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here